50 words moral story in Hindi दूध की सच्चाई

50 words moral story in Hindi

50 words moral story in Hindi दूध की सच्चाई कहानी

हिंदी स्टोरी के इस दौर में इतनी होड़ मची हुई है कि लोग ना जाने कितनी मॉडल स्टोरी लिखते जा रहे हैं और देखा जाए तो कहानी भी काफी लंबी होती हैं जिससे छोटे बच्चों को काफी दिक्कत होती है, उन कहानियों का अर्थ समझने में, अगर बात करें moral story की तो आपको इंटरनेट पर लाखों स्टोरी मिल जाएगी। लेकिन वह स्टोरी बहुत ही लंबी होगी जिसके कारण उनको पढ़ कर दूसरे बच्चों को उस कहानी का अर्थ समझाने में काफी दिक्कत आती है।

अगर कहानी छोटी है तो जल्दी से छोटा बच्चा उस कहानी को पढ़ लेता है और उसका अर्थ भी समझ जाता है  इसीलिए दोस्तों आज मैं लेकर आया हूँ।

50 words moral story in Hindi

इन moral story को लिखने का उद्देश्य मेरा एक ही है कि लोगों को छोटी से छोटी कम शब्दों में कहानियां मिल सके। जिससे छोटे बच्चे कहानी का अर्थ आसानी से समझ सके।

दूध की सच्चाई: एक घर में एक बिल्ली रहती थी जो बहुत ही होशियार थी और उसी घर में सोहन भी रहता था जब सोहन खेलने घर से बाहर चला जाता तो तब चुपके से बिल्ली अपने छोटे से बिल से बाहर निकलती और कल्लू का सारा दूध पी लेती। 

जब सोहन खेल कर वापस आता तो देखता कि उसका सारा दूध किसी ने पी लिया है। जब वह अपनी माँ से और दूध मांगता और कहता की किसने उसका सारा दूध पी लिया हैं तो उसकी माँ उसे बहुत गुस्से से देखती और कहती दूध और चाहिए तो मांग लो ये बहाना किस लिए मुझसे झूड़ क्यों बोल रहे हो। सोहन उदास हो जाता अपनी माँ के सामने और कहता माँ मैं झूड़ नहीं बोल रहा हूँ।

अब उसके साथ रोज ऐसा होने लगा जब वह घर से बाहर जाता तब चुपके से बिल्ली उसका सारा दूध पी लेती।

एक दिन सोहन ने अपने दूध में सफेद गोंद मिला दिया। और घर से बाहर चला गया।

सोहन को घर से बाहर जाता देख बिल्ली तुरंत दूध के पास आई और दूध पीने लगी कुछ ही देर में बिल्ली का मुंह दूध में ही चिपक गया। अब बिल्ली को अपनी होशियार पर पश्चताप हो रहा था।

Post a Comment

0 Comments