शरारती बंदर कि मौत Moral Stories In Hindi For Class 8

Moral Stories In Hindi For Class 8
Moral Stories In Hindi For Class 8

इस कहानी के माध्यम से दोस्तों आज मैं आपको बताने वाला हूं कि आप किस तरह से अपनी हरकतों को कंट्रोल कर सकते हैं।

यह कहानी एक बंदर की है जो अपने झुंड के साथ दिन भर मौज मस्ती करता रहता और जंगल में अपने दोस्तों के साथ मिलकर दूसरे लोगों को परेशान करता रहता।

एक बार एक कुत्ता अपने शिकार की तलाश में शहर से जंगल आ पहुंचा। कुत्ता को अकेला देख शरारती बंदर बोला अपने दोस्तों से चलो इस कुत्ते को परेशान करते हैं और मौज मस्ती करते हैं। Moral stories in hindi for class 8

उसके दोस्तों ने भी कहा ठीक है चलो इस कुत्ते को सबक सिखाते हैं। सभी बंदर उस कुत्ते को परेशान करने लगे कभी कोई बंदर उसकी पूछ पकड़ कर उसे उठा देता कभी कोई बंदर उसकी टांगे पर कर घुमा देता इस तरह से बंदर उसके साथ दिन भाग मौज मस्ती करते रहे।  कुत्ता बहुत परेशान हो चुका था बंदरों की इस हरकत से उसे बहुत गुस्सा आ रहा था इसलिए वह अब जंगल से अपने शहर लौट जाना जाता था। इसलिए उसने सभी बंदरों से हाथ जोड़ कर कहा मुझे अपने घर लौट जाने दो मैं अब कभी भी इस जंगल नहीं आऊंगा।

सभी बंदर उसकी शर्त मान गए और कहा ठीक है जाओ तुम अब लौटकर दोबारा इस जंगल में नहीं आना। शाम भी हो चुकी थी इसलिए कुत्ते ने बंदरों से कहा श्रीमान क्या आज में रात यही गुजार सकता हूं। 

बंदरों! ने कहा ठीक है।

पर सुबह होते ही यह से चले जाना यह कहकर सभी बंदर अपने अपने घर चले गए लेकिन शरारती बंदर उसी कुत्ते के पास रुक गया। Moral stories in hindi 

शरारती बंदर चाहता था कि इस कुत्ते को रात में ही जंगल से बाहर भगा दिया जाए लेकिन जब ऐसा नहीं हुआ तो बंदर ने कुछ सोचा और कुत्ते के पास रहना ही उचित समझा इसलिए वाह अपने दोस्तों से बहाना बनाकर कुत्ते के पास ही रुक गया। 

जैसे ही कुत्ता नींद लेने लगता तभी शरारती बंदर उसकी टांग पकड़ कर घसीट देता जिससे कुत्ते कि नींद खुल जाती 

शरारती बंदर उसके साथ रात भर मौज मस्ती करता रहा। कुत्ता बहुत परेशान हो चुका था इस शरारती बंदर से इसलिए कुत्ते ने सोचा रात में यहां से निकल जाना ही मेरे लिए बेहतर होगा। नहीं तो यह शरारती बंदर मुझे रात भर इसी तरह से परेशान करता रहेगा। कुत्ते ने यही सोचकर रात में ही जंगल से बाहर जाने लगा। 

जब शरारती बंदर ने देखा कि कुत्ता परेशान हो कर घर जा रहा हैं तो उसने सोच क्यों न इसे रास्ते में चलते हुये परेशान किया जाए इसी सोच से शरारती बंदर कुत्ते के पीछे पीछे जाने लगा। 

Moral stories in hindi for class 8

बंदर एक पेड़ से दूसरे पेड़ पर लटक कर कुत्ते कि पूछ को उठा देता और फिर दूसरे पेड़ पर चढ़ जाता ऐसा करते-करते वाह जंगल से काफी दूर निकल आया था। 

कुत्ता बेचारा चुपचाप उस बंदर की हरकतों को झेलता रहा जब कुत्ते को लगा कि अब वह आ चुका है तो उसने बंदर से कहा तुमने मुझे बहुत परेशान किया है। इसलिए मैं तुम्हें  कुछ अपने दोस्तों से मिलना चाहता हूँ। शरारती बंदर इससे पहले कुछ समझ पाता कि सभी कुत्ते उसे घेर लेते हैं। अब बंदर अपनी हरकतों पर पस्त आ रहा था और सोच रहा कि काश इस कुत्ते को रात में परेशान न किया होता तो मैं इस मुसीबत में कभी नहीं फ़सता और फिर उस शरारती बंदर को कुत्ते के सभी दोस्तों ने मिलकर मार डाला।

किसी भी कार्य को करने से पहले उसके परिणाम के बारे में अवश्य सोच लेना नहीं तो तुम्हारा हाल भी इसी शरारती बंदर कि तरह होगा।

हमें अपनी हरकतों पर कंट्रोल करना चाहिए नहीं तो तुम भी इसी बंदर कि तरह कभी भी फ़स सकते हो। Moral stories in hindi for class 8 अपनी शरारती हरकतों के कारण अगर आपको इस कहानी से कुछ सीखने को मिया हो तो प्लीज हमें कमेंट करके जरूर बताए।


Post a Comment

0 Comments